आपरेटिंग सिस्टम क्या है?

0 Comments

आपरेटिंग सिस्टम विन्डोज डम
आपरेटिंग सिस्टम क्या है?
कम्प्यूटर का प्रयोग करने के लिए अर्थात् कम्प्यूटर को कार्य करने योग्य बनाने के लिए आॅपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग होता है। जिस प्रकार आत्मा के बिना हमारा शरीर किसी भी कार्य का नहीं होता उसी प्रकार कम्प्यूटर भी बिना आॅपरेटिंग सिस्टम में मृतप्राय होता है।
प्रत्येक कम्प्यूटर के लिए एक आॅपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है। संक्षेप में आॅपरेटिंग सिस्टम, निर्देशो का एक ऐसा समूह है, जो कम्प्यूटर के हार्डवेयर और साॅफ्टवेयर के मध्य सम्बन्ध स्थापित करता है, यह इनपुट युक्तियों ;प्दचनज क्मअपबमेद्ध द्वारा दिए गए जाने वाले निर्देशों को कम्प्यूटर के समझने योग्य भाषा में अनुदित कर, कम्प्यूटर के माइक्रोप्रोससर को प्रषित करता है और प्राप्त परिणामों को वापस सन्देशो के रूप में माॅनीटर स्क्रीन अथवा प्रिन्टर अन्य आउटपुट युक्तियों ;व्नजचनज क्मअपबमेद्ध पर प्रेषित करता है।
पेजमेकर 7.0 का प्रयोग विन्डोज आॅपरेटिंग सिस्टम पर ही किया जा सकता है। हम इस परशिष्ट में आॅपरेटिंग सिस्टम विन्डोज के नवीनतम् तथा बहुप्रचलित संस्करण विन्डोज डम के बारे में तथा इसमें सामान्यतः किए जाने वाले कार्यो के बारे मे जानकारी प्राप्त करेंगे।
विन्डोज डम का परिचय
माइक्रोसाॅफ्ट काॅरपोरेशन ने डै.क्व्ै ;डपबतवेवजि क्पेा व्चमतंजपदह ैलेजमउद्ध सन् 1981 में तैयार किया और तब से अब तक आॅपरेटिंग सिस्टम्स में निरन्तर शोध एवं विकास ;त्मेमंतबी – क्मअमसवचउमदजद्ध लगा हुआ और आॅपरेटिंग सिस्टम के क्षेत्र में हर बार एक नया क्रान्तिकारी कद्म बढ़ा देता है। आॅपरेटिंग सिस्टम में आधुनिक क्रान्ति के रूप में माइक्रोसाॅफ्ट की नई प्रस्तुति है-विन्डोज डम।
यू ंतो आज भी माइक्रोसाॅफ्ट काॅरपोरेशन आॅपरेटिंग सिस्टम के निरन्तर शोध एवं विकास में लगा हुआ है, और अपना नया आॅपरेटिंग सिस्टम विन्डोज एक्स.पी. ;ग्च्द्ध को विकसित किया है। विन्डोज एक्स.पी. नेटवर्किंग तथा व्यक्तिगत प्रयोग दोनो के लिए उपयोगी है। इसी कारण इसका होम एडिशन भ्ब्स् कम्प्यूटर्स के साथ प्राप्त
च्ंहम 210
होता है। वर्तमान में विन्डोज का सबसे अधिक प्रचलित संस्करण है विन्डोज डम। इसलिए हम यहां पर विन्डोज के इसी संस्करण के बारे में जानकारी प्राप्त करेगंे।
विन्डोज डम के लिए आवश्यक हार्डवेयर
विन्डोज डम को कम्प्यूटर में स्थापित करने के लिए आवश्यक कम्प्यूटर हार्डवेयर निम्नांलिखित हैं
पेन्टियम-1 अथवा इससे अधिक क्षमता वाला प्रोसेसर।
हार्डडिस्क में न्यूनतम् 120 डठ एवं अधिकतम् 295 डठ रिक्त स्थान ।
कम्प्यूटर में त्।ड न्यूनतम् 32 डठ होनी चाहिए।
टळ। माॅनीटर अथवा विन्डोज पर कार्य करने योग्य कोई अन्य प्वाॅइटिंग युक्ति।
विन्डोज डम का डेस्कटाॅप
विन्डोज डम को कम्प्यूटर में स्थापित करने के बाद कम्प्यूटर के चालु होने पर सबसे पहले माॅनीटर स्क्रीन पर कम्प्यूटर की त्व्ड में स्थित बायोस ;ठप्व्ैद्ध प्रोग्राम चलता है। वह कम्प्यूटर सेल्फटेस्ट को माॅनीटर स्क्रीन पर प्रदर्शित करता है। सेल्फटेस्ट हो जाने के उपरान्त माॅनीटर स्क्रीन पर निम्नांकित चित्र की भांति विन्डोज डम लोड हो जाती है
माॅनीटर स्क्रीन पर प्रदर्शित होने वाले आइकन्स की संख्या इस बात पर निर्भर करती है कि विन्डोज डम
च्ंहम 211
के स्थापना के समय हमने विन्डोज डम को किस प्रकार ब्वदपिहनतम किया है। माॅनीटर स्क्रीन पर सबसे नीचे टास्क बार ;ज्ंेा ठंतद्ध प्रदर्शित होती है। टास्क बार में बाई ओर पुश बटन ैजंतज प्रदर्शित होता है एवं दाई ओर एक घड़ी प्रदर्शित होती रहती है। यदि विन्डोज डम के स्टार्टअप ग्रुप में कोई प्रोग्राम स्थित है तो वह प्रोग्राम विन्डोज डम के लोड होते ही स्वतः ही चालु हो जाता है और प्रोग्राम की सूचना इस टास्क बार पर भी प्रदर्शित होती है।
विन्डोज डम में कोई भी प्रोग्राम चलाने के लिए पुश बटन स्टार्ट पर क्लिक करना पड़ता है। इस पुश बटन पर क्लिक करते ही माॅनीटर स्6ीन पर निम्नांकित चित्र की भांति एक मेन्यू प्रदर्शित होता है
इस मेन्यू में विभिन्न गु्रप्स की सूची प्रदर्शित होती है। इस सूची मंे जिस गु्रप के समक्ष चिन्ह प्रदर्शित होता है, उस गु्रप में कुछ प्रोग्राम समाहित होते हैं। जिस ग्रुप के समक्ष यह चिन्ह प्रदर्शित नहीं होता, वह स्वयं ही एक प्रोग्राम होता है।
विन्डोज डम में फाइल व्यवस्थापन
विन्डोज डम के डेस्कटाॅप में माउस प्वाॅइन्टर को पुश बटन ैजंतज पर क्लिक करने से प्रदर्शित होने वाले मेन्यू मे च्तवहतंउे पर लाने से इसमें स्थित विभिन्न प्रोग्राम एवं प्रोग्राम गु्रप्स की सूची प्रदर्शित होती है।
इस सूची में विन्डोज डम के सहायक प्रोग्राम्स के अतिरिक्त वे प्रोग्राम भी सम्मिलित होते हैं जिनको हमने विन्डोज डम के स्थापन के उपरान्त अपने कम्प्यूटर में स्थापित किया है अथवा पहले से स्थापित प्रोग्राम्स का विन्डोज डम में स्थानापन्न ;ज्तंदेमितद्ध किया गया है। इस सूची में फाइल व्यवस्थापन में सम्बन्धित दो प्रोग्राम्स डै.क्व्ै च्तवउचज एवं ॅपदकवूे म्गचसवतमत होते है।
इस सूची में फाइल व्यवस्थापन में सम्बन्धित दो प्रोग्राम्स डै.क्व्ै च्तवउचज एवं ॅपदकवूे म्गचसवतमत होते हैं।
च्ंहम 212
एम. एस. -डाॅस प्राॅम्ट ;डै.क्व्ै च्तवउचजद्ध
इस सूची में से डै.क्व्ै च्तवउचज प्रोग्राम के आइकन पर क्लिक करके इसको चला सकते हैं और इस पर हम ठीक उसी प्रकार कार्य कर सकते हैं जिस प्रकार हम डाॅस के कमाण्ड प्राॅम्पट पर कार्य करते हैं। इस प्रोग्राम को चलाने पर एक विन्डो में डाॅस प्राॅम्प्ट प्रदर्शित होता है। इस डाॅस प्राॅम्प्ट पर हम उन सभी कमाण्ड्स को चला सकते हैं, जिनको कि हम डाॅस 6.22 के कमाण्ड प्राॅम्पट पर चला सकते हैं।
कहने का तात्पर्य यह है , कि हम इस डाॅस प्राॅम्प्ट पर वे सभी कार्य कर सकते हैं, जोकि हम डाॅस में करते हैं। डाॅस के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए रवि पाॅकेट बुक्स से प्रकाशित लेखक की पुस्तक ए टू जैड डाॅस 6.22 का अध्ययन कीजिए। डाॅस प्राॅम्प्ट पर वांछित कार्य करने के उपरान्त विन्डोज में जाने के लिए प्राम्प्ट पर म्गपज टाइप करके म्दजमत ‘की‘ को दबाना होता है।
विन्डोज एक्सप्लोरर ;ॅपदकवूे म्गचसवतमतद्ध
विन्डोज एक्सप्लोरर ;ॅपदकवूे म्गचसवतमतद्ध विन्डोज 3.1 में स्थित फाइल मैनेजर ;थ्पसम डंदंहमतद्ध की भांति का एक उन्नत ;।कअंदबमकद्ध प्रोग्राम है। विन्डोज एक्सप्लोरर विन्डोज डम में फाइल्स , फोल्डर्स अर्थात् डायरेक्ट्रीज एवं ड्राइव्स पर कार्य करने के लिए एक अत्यन्त उत्कृष्ट सुविधा है।
इस प्रोग्राम पर माउस प्वाॅइन्टर को लाकर क्लिक करने पर इस प्रोग्राम की विन्डो निम्नांकित चित्र की भांति प्रदर्शित होती है
च्ंहम 213
इस विन्डो में टाइटिल बार के नीचे मेन्यू बार एवं टूलबार प्रदर्शित होती है। इसके नीचे प्रदर्शित ।ककतमेे ठंत का प्रदर्शन होता है। इस विन्डो का वर्किंग एरिया दो भागो ं में बंटा होता है बाई ओर वाले भाग में ड्राइव्स एवं डायरेक्ट्रीज का ही प्रदर्शन होता है। इस विन्डो के बाएं भाग का मुख्य फोल्डर क्मेाजवच होता है। विन्डोज डम के डेस्टाॅप पर स्थित विभिन्न सिस्टम आइकन्स; जैसे डल क्वबनउमदजए डल ब्वउचनजमत ए डल छमजूवता च्संबमे आदि इसमें ऐसे फोल्डर्स के रूप में प्रदर्शित होते हैं जिनके अन्य फोल्डर्स होते है। इन फोल्डर्स इस विन्डो के वर्किंग एरिया के बाएं भाग में तथा फोल्डर्स के साथ-साथ फाइल्स के नाम का प्रदर्शन दाएं भाग में फोल्डर्स का प्रदर्शन ज्तमम के रूप में होता है। बाएं भाग में चुने गए फोल्डर्स का नाम दाएं भाग में ऊपर प्रदर्शित होता हे और इस फोल्डर्स में स्थित अन्य फोल्डर्स एवं फाइल्स का प्रदर्शन आइकन्स के रूप में होता है। इस प्रदर्शन को हम अपनी इच्छानुरूप बदल भी सकते हैं इस विन्डो के दाएं भाग में फाइल्स एवं फोल्डर्स का प्रदर्शन बदलने के लिए इस विन्डो की स्टैण्डर्ड टूल बार पर स्थित अन्तिम आइकन टपमू पर क्लिक करने से यह प्रदर्शन बदल जाएगा। इस विन्डो में पांच प्रकार से फाइल्स एवं फोल्डर्स का प्रदर्शन होता है। प्रत्येक बार इस आइकन पर क्लिक करने से इस विन्डो के दाएं भाग का प्रदर्शन की सूची प्रदर्शित होती है। इस सूची में से हम वांछित विकल्प को चुनकर विन्डो के दाएं भाग का प्रदर्शन निर्धारित करते है। सूची के पांचों विकल्प टपमू मेन्यू में भी स्थित होते हैं।
विन्डो के दाएं भाग में जब हम किसी फाइल को चुन लेते हैं तो इस फाइल के बारे में कुछ सूचनाएं निम्नांकित चित्र की भांति प्रदर्शित होती है
च्ंहम 214
इस चित्र में इस विन्डो के दाएं भाग में एक फाइल क्ज्च्2.002 को चुना हुआ है। इस फाइल के बारे में प्रदर्शित होने वाली विभिन्न सूचनाओ को एक वृत के अन्दर दर्शाया गया है। ये सूचनाएं फाइल के प्रकार, फाइल पर अन्तिम बार कब कार्य किया गया था, फाइल के आकार तथा फाइल के एट्रीब्यूट के बारे में होती है। यदि चुनी गई फाइल एक इमेज फाइल है तो इस फाइल की इमेज का प्रदर्शन भी इस विन्डांे में निम्नांकित चित्र की भांति होता है
यदि हम इस विन्डो के दूसरे भाग में प्रदर्शित होने वाली समस्त फाइल्स के बारे मं विस्तृत जानकारी को प्रदर्शित करना चाहते हैं, तो इसके लिए हमे टपमू आइकन के दाई ओर दिए गए डाउन ऐरो पर क्लिक करने पर प्रदर्शित होने वाली सूची मंे से अथवा टपमू मेन्यू पर क्लिक करने पर प्रदर्शित होने वाली विभिन्न फाइल्स का प्रदर्शन अग्रांकित चित्र की भांति होता है। इस प्रदर्शन में फाइल्स अथवा फोल्डर्स का नाम , आइकन, प्रकार एवं अन्तिम बार फाइल अथवा फोल्डर पर किस तिथि को किस समय कार्य सम्पन्न किया था, ये सभी सूचनाएं प्रदर्शित होती है।
डपरोक्त चित्र तथा पिछले पृष्ठ पर दिए गए चित्र को यदि ध्यान से देखेंगे, तो पाएंगे कि विन्डोज एक्सप्लोरर विन्डो के दाएं भाग मे फाइल्स के प्रदर्शन मे परिवर्तन हो गया है। पिछले पृष्ठ पर दिए गए चित्र मे यह स्ंतहम प्बवदे टपमू में प्रदर्शन हो रहा है और उपरोक्त चित्र में यह प्रदर्शन ैउंसस प्बवदे टपमू में हो रहा है। इसी प्रकार अन्य टपमूे को हम इसी परिशिष्ट में विन्डोज एक्सप्लोरर के अन्य चित्रों में भी देख पाएगे।
च्ंहम 215
विन्डोज एक्सप्लोरर विन्डो के बाएं भाग मे विन्डोज डम द्वारा बनाई गई डायरेक्ट्रीज के सम्मूख एक बाॅक्स में ़ चिन्ह प्रदर्शित होता है। एवं प्रयोगकर्ता द्वारा बनाई गई डायरेक्ट्रीज एक फोल्डर के रूप में प्रदर्शित होती है। जब बाएं भाग में ़ चिन्ह लगाया जाता है, तो इस डायरेक्ट्री में स्थित उप-डायरेक्ट्रीज एवं फाइल्स का प्रदर्शन दाएं भाग में होता है, परन्तुं बाएं भाग में इस डायरेक्ट्री की उप-डायरेक्ट्रीज ही प्रदर्शित होती है। अब यह चिन्ह ़ से परिवर्तित होकर – हो जाता है। जब हम इस – चिन्ह पर क्लिक करते हैं, तो फाइल्स एवं उप-डायरेक्ट्रीज का प्रदर्शन समाप्त हो जाता है और – चिन्ह पुनः ़ में परिवर्तित हो जाता है।
इसी प्रकार जब प्रयोगकर्ता द्वारा बनाई गई डायरेक्ट्री के फोल्डर पर क्लिक करते हैं तो यह फोल्डर खुल जाता है और उपरोक्तानुसार ही फाइल्स एवं उप-डायरेक्ट्रीज का प्रदर्शन होता है। अब पुनः इस खुले हुए फोल्डर पर क्लिक करने पर यह फोल्डर एवं फाइल्स एवं उप-डायरेक्ट्रीज का प्रदर्शन बन्द हो जाता है।
किसी फाइल विशेष के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए विन्डोज एक्सप्लोरर के थ्पसम मेन्यू के विकल्प च्तवचमतजपमे पर क्लिक करना होगा। यदि हम वांछित फाइल पर माउस प्वाॅइन्टर लाकर माउस का दायां बटन दबाने पर प्रदर्शित होने वाले शाॅर्टकट मेन्यू में भी यह विकल्प दिया होता है। यहां पर भी इस विकल्प को चुनते ही वांछित फाइल के बारे में विस्तृत जानकारी दर्शाने वाले डायलाॅग बाॅक्स का प्रदर्शन अगले पृष्ठ पर दिए गए चित्र की भांति माॅनीटर स्क्रीन पर होता है। इस डायलाॅग बाॅक्स के नाम में फाइल के नाम के साथ च्तवचमतजपमे भी लिख होता है।
इस चित्र में हमने थ्रू ड्राइव में ॅवतो डायरेक्ट्री में स्थित उप-डायरेक्ट्री ब्नततमदज की उप-डायरेक्ट्री त्ंअप में स्थित उप-डायरेक्ट्री क्ज्च्2002 में स्थित फाइल डवदपजवत के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लए यही प्रक्रिया अपनाई है। इस डायलाॅग बाॅक्स में सबसे ऊपर एक बाॅक्स में फाइल का नाम प्रदर्शित होता है। इसके नीचे ज्लचम
च्ंहम 216
व िपिसम के सामने इस फाइल का प्रकार तथा व्चमदे ूपजी के सामने यह प्रदर्शित होता है कि इस फाइल को किस प्रोग्राम में खोला जाए। यदि हम चाहें,तो इस प्रोग्राम को परिवर्तित कर सकते हैं। इसके लिए हमें इसके सामने
च्ंहम 217
दिए गए पुश बटन ब्ींदहम पर क्लिक करना होगा। इस पुश बटन पर क्लिक करते ही माॅनीटर स्क्रीन पर पिछले पृष्ठ पर दिए गए दूसरे चित्र की भांति व्चमद ॅपजी डायलाॅग बाॅक्स प्रदर्शित होता है।
इस डायलाॅग बाॅक्स में दी गई विभिन्न प्रोग्राम्स की सूची में से वांछित प्रोग्राम को चुनकर हम यह परिवर्तन कर सकते है। वांछित प्रोग्राम को चुनने पर इस डायलाॅग बाॅक्स का पुशबटन व्ज्ञ सक्रिय हो जाता है। अब इस पुशबटन पर क्लिक करने से च्तवचमतजपमे डायलाॅग बाॅक्स में व्चमदे ूपजी के सम्मुख इस चुने गए प्रोग्राम का नाम प्रदर्शित होने लगता है। च्तवचमतजपमे डायलाॅग बाॅक्स में इसके नीचे वाले भाग में डिस्क पर इस फाइल के स्थान की जानकारी , इस फाइल का आकार तथा इस फाइल द्वारा डिस्क में घेरे गए स्थान के बारे में जानकारी प्रदर्शित होती है। इस जानकारी के नीचे वाले भाग में यह फाइल कब बनाई गई, इसमें अन्तिम बार कब सुधार किया गया तथा इस तक अन्तिम बार कब पहुंचा गया, यह जानकारी प्रदर्शित होती है। इस डायलाॅग बाॅक्स में नीचे की ओर ।जजतपइनजम के सामने तीन चैक बाॅक्सेज बने होते हैं। इनमें से चुने गए चैक बाॅक्स फाइल के एट्रीब्यूट को प्रदर्शित करते हैं। च्तवचमतजपमे डायालाॅग बाॅक्स के मुख्य विकल्प तथा उनको चुनने पर इस डायलाॅग बाॅक्स केा प्रदर्शित करते हैं। च्तवचमतजपमे डायलाॅग बाॅक्स के मुख्य विकल्प तथा उनको चुनने पर इस डायलाॅग बाॅक्स का होने वाला प्रदर्शन फाइल के प्रकार पर निर्भर करता है। उपरोक्त विवरण एक ूउ िविस्तारित नाम वाली फाइल को चुनकर किया गया है। यदि आपने किसी अन्य विस्तारित नाम वाली फाइल को चुनकर इस डायलाॅग बाॅक्स को प्रदर्शित किया है, तो मुख्य विकल्प तथा इनका प्रदर्शन भिन्न भी हो सकता है।
विन्डोज एक्सप्लोरर में फाइल को काॅपी करना
विन्डोज एक्सप्लोरर में फाइल व्यवस्थापन के लिए सामान्यतः ड्राॅप डाउन प्रक्रिया अपनाई जाती है। ड्राॅप डाउन प्रक्रिया से तात्पर्य है किसी वस्तु केा एक स्थान से उठाकर किसी अन्य स्थान पर ले जाना। विन्डोज एक्सप्लोरर
च्ंहम 218
में किसी फाइल को किसी अन्य स्थान पर काॅपी करने के लिए इस विन्डो के दाएं भाग में उस फाइल को चुन लिया जाता है। अब इस फाइल को हमें जिस ड्राइव में काॅपी करना है, उस पर ड्रैग करते हुए ले जाकर माउस प्वाॅइन्टर को छोड़ देते हैं। इसे आप पिछले पृष्ठ पर दिए गए चित्र से स्पष्ट समझ सकेगंे। इस चित्र में हमने थ्रू ड्राइव में ॅवतो डायरेक्ट्री में स्थित उप-डायरेक्ट्री में स्थित उप-डायरेक्ट्री ब्नततमदज की उप-डायरेक्ट्री त्ंअप में स्थित उप-डायरेक्ट्री क्ज्च्2002 में स्थित फाइल डवदपजवत को ।रू ड्राइव मंे लगी हुई फ्लाॅपी में काॅपी करने का कार्य किया है। इसके लिए हमने सर्वप्रथम विन्डोज एक्सप्लोरर विन्डो के बाए थ्रू ड्राइव पर क्लिक करने के उपरान्त इसकी डायरेक्ट्री ॅवतो पर क्लिक करके इसकी उप-डायरेक्ट्री क्ज्च्2002 पर क्लिक करके विन्डोज एक्सप्लोरर विन्डो के दायें भाग में हमने डवदपजवतण्ूउ िफाइल को चुना। इस फाइल को चुनने पर इस विन्डो के दायें भाग में इस फाइल के बारे में सूचनाएं भी प्रदर्शित होने लगती है। अब इस फाइल पर माउस प्वाॅइन्टर लाकर माउस के बायें बटन को दबाए हुए ही सरकाते हुए इस विन्डो के बायें भाग मे ।रू ड्राइव पर लाकर छोड़ दिया । माउस के बायें बटन को छोड़ते ही फाइल को काॅपी किए जाने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो जाती है एवं काॅपी किए जाने की प्रगति माॅनीटर पर निम्नांकित चित्र की भांति प्रदर्शित होती है
यदि इस प्रक्रिया को रोकना चाहते हैं तो उपरोक्त डायलाॅग बाॅक्स के पुश बटन ब्ंदबमस पर क्लिक कर देते है। यदि हम किसी फाइल को काॅपी करने के लिए यह प्रक्रिया अपनाते है, जोकि पहले से ही काॅपी किए जाने वाले स्थान पर स्थित है, तो विन्डोज एक्सप्लोरर निम्नांकित चित्र की भांति एक चेतावनी सन्देश प्रदर्शित करता है
यदि हम फाइल को, पहले से स्थित फाइल पर ओवरराइट करना चाहते हैं, तो इस डायलाॅग बाॅक्स मे दिए गए पुश बटन ल्मे पर क्लिक करते हैं। अब काॅपी किए जाने की यह प्रक्रिया आगे बढ़ जाती है। यदि हम फाइल को पहले से स्थित फाइल पर ओवरराइट नहीं करना चाहते हैं, तो इस डायलाॅग बाॅक्स में दिए गए पुश बटन छव पर क्लिक करते हैं और यह प्रक्रिया रूक जाती है।
विन्डोज एक्सप्लोरर में फाइल को मूव करना
विन्डोज एक्सप्लोरर में फाइल को मूव करना अर्थात् अपने मूल स्थान से मिटाकर नए स्थान पर विस्थापित
च्ंहम 219
करना, भी काॅपी करने समान ही है। इन दोनों प्रक्रियाओं मे अन्तर केवल इतना ही है कि मूव करने में ड्राॅप डाउन करते समय की-बोर्ड पर ैीपजि ‘की‘ को दबाए रहना होगा। मूव प्रक्रिया की प्रगति भी काॅपी प्रक्रिया के समान ही माॅनीटर स्क्रीन पर प्रदर्शित होती है।
विन्डोज एक्सप्लोरर में फाइल अथवा फोल्डर को मिटाना
विन्डोज एक्सप्लोरर में किसी फाइल अथवा फोल्डर को तीन प्रकार से मिटाया जा सकता है
मिटाए जाने वाले फाइल अथवा फोल्डर को चुनकर की-बोर्ड पर क्मस ‘की‘ को दबाकर।
मिटाए जाने वाले फाइल अथवा फोल्डर को चुनकर इस विन्डो की टूलबार पर स्थित क्मसमजम आइकन पर क्लिक करके।
मिटाए जाने वाले फाइल अथवा फोल्डर को चुनकर इस विन्डो के म्कपज मेन्यू में से क्मसमजम विकल्प को चुनकर।
विन्डोज एक्सप्लोरर किसी फाइल को मिटाने से पूर्व प्रयोगकर्ता को चेतावनी देता है। इस चेतावनी मे मिटाई जाने वाली फाइल को त्मबलबसम ठपद में भेजने के लिए पूछा जाता है। इस प्रकार मिटाई जाने वाली फाइल कम्प्यूटर हार्डडिस्क से अस्थाई रूप से मिटती हैं। हमें यदि कभी इस फाइल की पुनः आवश्यकता प्रतीत होती है, तो हम इसे त्मबलबसम ठपद से पुनः प्राप्त कर सकते है। परन्तु यदि हमने इससे पहले त्मबलबसम ठपद को ब्समंत कर दिया है, तो यह फाइल स्थाई रूप से मिट जाती है। त्मबलबसम ठपद से किसी फाइल को पुनः प्राप्त करने के लिए विन्डोज एक्सप्लोरर विन्डो के बाएं भाग में त्मबलबसम ठपद पर क्लिक करने पर मिटाई गई फाइल्स का प्रदर्शन निम्नांकित चित्र की भांति होता है
च्ंहम 220
इस विन्डो के दाएं भाग में मिटाई गई फाइल्स प्रदर्शित होती है। यदि हम मिटाई गई सभी फाइल्स को उनके मूल स्थान, जहां से वे मिटाई गई थीं, पर वापस प्राप्त करना अर्थात् त्मेजवतम करना चाहते हैं, तो म्उचजल त्मबलबसम ठपद बटन पर क्लिक करते हैं। यदि हम इन फाइल्स में से किसी एक फाइल को ही पुनः प्राप्त करना चाहते हैं, उस फाइल पर क्लिक करते है। अब इस विन्डो का प्रदर्शन निम्नांकित चित्र की भांति होने लगता है
अब त्मेजवतम बटन पर क्लिक करने पर यह फाइल यहां से मिटा जाती है और अपने मूल स्थान पर प्रदर्शित होने लगती है।
विन्डोज एक्सप्लोरर में फाइल्स को चुनना
यदि हम एक से अधिक फाइल्स अथवा फोल्डर्स चुनना चाहते हैं और ये फाइल्स और फोल्डर्स एक क्रम में हैं तो की-बोर्ड पर ैीपजि ‘की‘ को दबाकर उन फाइल्स एवं फोल्डर्स को क्लिक करना होगा। यदि ये फाइल्स एवं फोल्डर्स एक साथ नहीं है तो की-बोर्ड पर ब्जतस ‘की‘ को दबाकर उन फाइल्स एवं फोल्डर्स पर क्लिक करना होगा।
विन्डोज एक्सप्लोरर में नई डायरेक्ट्री बनाना
विन्डोज डम में नई डायरेक्ट्री अथवा फोल्डर बनाने के लिए विन्डोज एक्सप्लोरर विन्डो के दाएं भाग में किसी भी स्थान पर माउस का दायां बटन दबाता होता है। इस बटन को दबाने से माॅनीटर स्क्रीन पर अग्रांकित चित्र की भांति एक शाॅर्टकट मेन्यू प्रदर्शित होता है
च्ंहम 221
इस मेन्यू मे छमू विकल्प को चुनने पर एक अन्य मेन्यू प्रदर्शित होता है। इस मेन्यू के विकल्प थ्वसकमत पर क्लिक करने पर वर्तमान कार्यकारी फोल्डर अर्थात् डायरेक्ट्री में एक उप-डायरेक्ट्री (फोल्डर) बन जाती है। इस फोल्डर के नाम के स्थान पर छमू थ्वसकमत लिखा हुआ होता है। इस फोल्डर को नया नाम दे सकते हैं।
विन्डोज एक्सप्लोरर में किसी फाइल या फोल्डर का नाम बदलना
विन्डोज एक्सप्लोरर मंे किसी फाइल का नाम बदलने के लिए उस फाइल अथवा फोल्डर के नाम पर माउस प्वाॅइन्टर लाकर माउस का दायां बटन क्लिक करने पर प्रदर्शित होने वाले शाॅर्टकट मेन्यू में से त्मदंउम विकल्प को चुना जाता है। इस विकल्प को चुनने से इस नाम के चारों ओर एक चतुर्भुज प्रदर्शित होता है और नाम हाईलाइट हो जाता है। यहां पर हम कोई भी नया नाम टाइप करके इस फाइल अथवा फोल्डर का नाम बदल सकते हैं।
विन्डोज एक्सप्लोरर में किसी फाइल अथवा फोल्डर को खोजना
विन्डोज एक्सप्लोरर में किसी विशेष फाइल अथवा फोल्डर केा खोजने के लिए कि वह किस ड्राइव एवं किस डायरेक्ट्री मंे स्थित है, ैमंतबी टूल का प्रयोग करते है। ैमंतबी टूल विन्डोज एक्सप्लोरर की स्टैण्डर्ड टूलबार पर स्थित होता है। इस टूल बटन पर क्लिक करने पर विन्डोज एक्सप्लोरर की विन्डो के बाएं भाग का प्रदर्शन अग्रांकित चित्र की भांति होने लगता है।
इस प्रदर्शन में ैमंतबी वित पिसमे ंदक विसकमते दंउमक के नीचे दिए गए टैक्स्ट बाॅक्स में उस फाइल अथवा
च्ंहम 222
फोल्डर का नाम टाइप करते हैं, जिसे हम खोजना चाहते है। इस नाम को टाइप करते समय हम वाइल्ड कार्ड का प्रयोग भी कर सकते हैं। ैमंतबी वित पिसमे ंदक विसकमते दंउमक के नीचे दिए गए टैक्स्ट बाॅक्स में खोजी जाने वाली फाइल अथवा फोल्डर्स अथवा वाइल्ड कार्ड का प्रयोग करके इनके समूह को टाइप करने के उपरान्त यदि किन्हीं फाइल्स को खोजना है, जिनमें एक विशेष टैक्स्ट टाइप किया गया हो, तो उस टैक्स्ट को ब्वदजंपदपदह जमगज के नीचे दिए गए टैक्स्ट बाॅक्स में टाइप करते हैं। इसके बाद स्ववा पद के नीचे दिए गए सेलैक्शन बाॅक्स के दाए सिरे पर स्थित डाउन ऐरो पर क्लिक करने पर हमारे कम्प्यूटर की विभिन्न ड्राइव्य की सूची प्रदर्शित होती है। इस सूची में से स्वबंस भ्ंतक क्तपअमे को चुनने पर हमारे कम्प्यूटर की हार्डडिस्क के सभी पार्टीशन्स में वांछित फाइल अथवा फोल्डर को खोजा जाता है। यदि हम किसी विशेष ड्राइव में ही यह खोज करना चाहते है,ं तो उस ड्राइव को इस सूची में से चुन लेते हैं। यदि हम किसी विशेष ड्राइव में ही यह खोज करना चाहते हैं, तो उस ड्राइव को इस सूची में से लेते हैं। यदि हम किसी विशेष फोल्डर में ही इस खोज को करना चाहते हैं, तो इसमें ठतवूेम पर क्लिक करने पर प्रदर्शित होने वाले ठतवूेम थ्वत थ्वसकमत डायलाॅग बाॅक्स वांछित फोल्डर का चुनाव करते हैं। वांछित फोल्डर को चुनकर पुश बटन व्ज्ञ पर क्लिक करने पर यह फोल्डर ठतवूेम के नीचे प्रदर्शित होता है। अब पुश बटन ैमंतबी छवू पर क्लिक करने पर खोज का कार्य प्रारम्भ हो जाता है और कुछ क्षणों में खोज का परिणाम एक्सप्लोरर विन्डो के दाएं भाग में प्रदर्शित होता है।
इस परिशिष्ट में हमने आॅपरेटिंग सिस्टम विन्डोज डम के बारे में आवश्यक जानकारी प्राप्त की तथा विन्डोज डम में फाइल व्यवस्थापन करना सीखा। अगले परिशिष्ट में हम पेजमेकर के शाॅर्टकट्स के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *